Tokyo Olympic: किसान की बेटी गुरजीत कौर ने सच कर दिखाया सपना, ओलंपिक में बनी भारत की जीत की सूत्रधार

खेल नई दिल्ली न्यूज़ भारत

भारत की महिला हॉकी टीम ने टोक्यो ओलंपिक में सबको चौंकाते हुए ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से हराकर पहली बार सेमीफाइनल में कदम रख दिया है। इस मैच में ड्रैग फ्लिकर गुरजीत कौर के गोल से भारत ने आस्ट्रेलिया को 1-0 से मात दी। एक किसान परिवार में जन्मी गुरजीत कौर ने सोमवार को टोक्यो ओलंपिक में इतिहास रच दिया।

Tokyo Olympic किसान की बेटी गुरजीत कौर ने सच कर दिखाया सपना, ओलंपिक में बनी भारत की जीत की सूत्रधार

अमृतसर के मियादी कलां गांव की रहने वाली 25 साल की गुरजीत के परिवार का हॉकी से कुछ लेना देना नहीं था। उनके पिता सतनाम सिंह के लिए तो बेटी की पढ़ाई ही सबसे  पहले थी। गुरजीत और उनकी बहन प्रदीप ने शुरुआती शिक्षा गांव के पास के निजी स्कूल से ली। इसके बाद वे तरनतारन के कैरों गांव में एक बोर्डिंग स्कूल में पढ़ने गई। यही हॉकी के लिए उनका लगाव शुरू हुआ। वे लड़कियों को हॉकी खेलते देख प्रभावित हुई और उन्होंने इसमें हाथ आजमाने का फैसला किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.