Bitta Karate Wife: बिट्टा कराटे की पत्नी समेत 4 सरकारी कर्मचारी बर्खास्त, कश्मीरी पंडितों के नरसंहार का है जिम्मेदार

भारत जम्मू&कश्मीर न्यूज़

Syed Salahuddin Son Sacked: जम्मू-कश्मीर सरकार ने आंतकी सलाहुद्दीन (Salahuddin) के बेटे अब्दुल मुईद को भी नौकरी से बर्खास्त कर दिया है. कश्मीर (Kashmir) के युवाओं को भड़काने में इसका अहम रोल सामने आया है.

Bitta Karate’s Wife Sacked: सरकारी सूत्रों के हवाले से खबर है कि जम्मू-कश्मीर सरकार (J&K Govt) ने आतंकी बिट्टा कराटे (Bitta Karate) की पत्नी समेत चार सरकारी कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया है. बिट्टा कराटे जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में हुए कश्मीरी पंडितों के नरसंहार (Massacre of Kashmiri Pandits) का जिम्मेदार है. इन चारों को टेरर लिंक के सामने आने के बाद बर्खास्त किया गया है. बता दें कि जम्मू-कश्मीर सरकार ने बिट्टा कराटे (Bitta Karate) की पत्नी अस्साबाह आरजूमंद खान, कश्मीर यूनिवर्सिटी साइंटिस्ट मुहित अहमद भट्ट, कश्मीर यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर माजिद हुसैन कादरी और JKEDI के मैनेजर आईटी सयेद अब्दुल मुईद को बर्खास्त कर दिया है.

बिट्टा कराटे की पत्नी का ISI से लिंक

सूत्रों के अनुसार, बिट्टा कराटे की पत्नी अस्सबाह जो कि 2011 बैच की JAKS अफसर हैं, उन्हें आतंकी संगठन ISI से जुड़े होने की वजह से हटाया गया है. साल 2003 से 2007 तक अस्सबाह अपनी ड्यूटी से अनुपस्थित रहीं और इस दौरान वो जर्मनी, ब्रिटेन, हेलसिंकी, श्रीलंका और थाईलैंड के दौरे पर रहीं.

आतंकियों के परिवार को पैसे मुहैया कराता है मुहित

जान लें कि मुहित अहमद भट्ट कश्मीर यूनिवर्सिटी के डिपार्टमेंट ऑफ कंप्यूटर साइंस में साइंटिस्ट हैं. मुहित साल 2017 से लेकर 2019 तक कश्मीर में कई स्ट्रीट प्रोटेस्ट को ऑर्गनाइज करता रहा है. मुहित पत्थरबाजों और आतंकियों के परिवार को पैसे मुहैया कराता रहा है. मुहित का स्टूडेंट्स को भटकाने और पाकिस्तानी प्रोपगेंडा चलाने में बड़ा हाथ रहा है.

लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी माजिद हुसैन कादरी

बता दें कि माजिद हुसैन कादरी लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी रहा था, लेकिन उससे पहले ये कश्मीर यूनिवर्सिटी में MBA का स्टूडेंट रह चुका है. साल 2001 में ये दो पाकिस्तानी आतंकियों के संपर्क में आया. ये यूनिवर्सिटी में कट्टरता फैलाने के साथ-साथ रिक्रूटमेंट भी कर रहा था. आतंकियों को हथियार भी मुहैया कराता था. PSA के तहत 2 साल के लिए हिरासत में भी लिया गया था.

सलाहुद्दीन का बेटा नौकरी से बर्खास्त

वहीं, सयेद अब्दुल्लाह मेनन हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर सयेह सलाहुद्दीन का बेटा है. ये जम्मू-कश्मीर इंटरप्रेन्योरशिप डेवेलपमेंट इंस्टीट्यूट में बतौर IT मैनेजर काम कर रहा था. ये भी आतंकियों के संपर्क में था. उन्हें सारी जानकारी उपलब्ध करा रहा था. युवाओं को भड़काने में भी इसका अहम रोल रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.