Agnipath Protest all India: ‘अग्निपथ’ का विरोध: बिहार में डिप्‍टी CM के घर पर पथराव, फूंकी गईं ट्रेनें; जानिए 10 बड़े अपडेट

उत्तरप्रदेश नई दिल्ली नौकरी न्यूज़ बिहार भारत

Agnipath Protest : सेना में भर्ती की नई स्कीम के विरोध का मामला तूल पकड़ चुका है. इस बीच इस आंदोलन की आंच दक्षिण भारत तक पहुंच गई है. यूपी, एमपी, बिहार और हरियाणा में जारी बवाल के बीच रक्षा मंत्री का बड़ा बयान सामने आया है.

Agnipath Scheme Protest: अग्निपथ स्कीम के विरोध में ट्रेनों को नुकसान पहुंचाने के साथ शुरू हुआ विरोध प्रदर्शन अब राजनेताओं के घरों की दहलीज तक पहुंच गया है. सेना भर्ती स्कीम के विरोध के नाम पर हो रहे आंदोलन में आम लोगों को निशाना बनाया जा रहा है. ट्रेन में पथराव और आगजनी के अलावा लोगों से लूटपाट तक हो रही है. ऐसे में आज शुक्रवार को जब इस विरोध प्रदर्शन का तीसरा दिन है ऐसे में आइए बताते हैं इस हंगामे से जुड़े 10 बड़े अपडेट

1. बिहार की ट्रेनों में आगजनी – शुक्रवार सुबह युवाओं ने बिहार के समस्तीपुर और लखीसराय में ट्रेन में आग लगा दी. भीड़ ने ट्रेन के कई एसी कोच को आग के हवाले कर दिया. जम्मूतवी गुवाहाटी एक्सप्रेस ट्रेन की कुछ बोगियों को प्रदर्शनकारियों ने आग के हवाले कर दिया गया. ये घटनाक्रम हाजीपुर बरौनी रेलखंड के मोहिउद्दीननगर स्टेशन में सामने आया. बिहार संपर्क एक्सप्रेस ट्रेन में आग लगाई गई है. ये रेलगाड़ी दरभंगा से नई दिल्ली जा रही थी. जिसकी चार बोगियों को जलाकर खाक कर दिया गया.

2. ट्रेन रोककर प्रदर्शन- समस्तीपुर में भी सेना की बहाली को लेकर केंद्र की लाई गई स्कीम अग्निपथ का छात्रों ने विरोध किया है. इस बीच दलसिंहसराय रेलवे स्टेशन पर अवध आसाम एक्सप्रेस ट्रेन को रोक कर भीषण प्रदर्शन किया गया है.

3. पांच रेलवे स्टेशन बंद- कई रेलवे स्टेशनों में आगजनी हुई है. भारतीय रेलवे विभाग के दस्तावेजों को आग के हवाले किया गया है. इस बीच पांच रेलवे स्टेशन पूरी तरह बंद कर दिए गए हैं.

4. यूपी तक पहुंची आंच- इस आंदोलन के विरोध में पूर्वी उत्तर प्रदेश के बलिया से लेकर पश्चिमी यूपी तक प्रदर्शन किया गया है. बलिया में अग्निपथ के विरोध में युवाओं ने बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन किया है. केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के विरोध में शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के बलिया में युवाओं की उग्र भीड़ ने जमकर हंगामा किया तथा कई ट्रेन में तोड़फोड़ की. सूत्रों ने बताया कि बलिया रेलवे स्टेशन पर धुलाई के लिए खड़ी एक ट्रेन में युवकों ने आग लगा दी जिससे इसकी एक बोगी धू-घू कर जलने लगी. स्टेशन पर लाठी से लैस युवाओं ने बवाल शुरू कर दिया. वहीं पश्चिमी यूपी में मथुरा और अन्य कई शहरों में विरोध प्रदर्शन हुआ है.

 

5. झारखंड मे सेना भर्ती केंद्र के बाहर प्रदर्शन- रांची में ‘अग्निपथ’ योजना के खिलाफ सेना के भर्ती कार्यालय के बाहर जमकर प्रदर्शन हुआ है. केंद्र सरकार द्वारा सशस्त्र बलों में भर्ती के लिए घोषित ‘अग्निपथ’ योजना के खिलाफ सेना में भर्ती के अकांक्षी सैकड़ों अभ्यार्थियों ने रांची के मेन रोड स्थित सेना भर्ती कार्यालय के सामने प्रदर्शन किया है.

6. मध्य प्रदेश और राजस्थान में बवाल – इस योजना के विरोध में मध्य प्रदेश के शहरों में भी जमकर विरोध प्रदर्शन किया गया है. वहीं राजस्थान के भरतपुर में आंदोलनकारियों ने रेलवे ट्रैक की पटरियां उखाड़ ली है.

 

7. रक्षामंत्री का बयान- इस मामले में जारी विरोध प्रदर्शन के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि नई स्कीम के तहत जल्द ही भर्ती परीक्षा शुरू की जाएगी. उन्होंने ये भी कहा कि इस साल अग्निवीर की आयु सीमा स्पेशल प्रावधान के तहत 23 साल रखी गई है.

8. मामले पर सियासत – सेना की नई भर्ती स्कीम को लेकर विपक्ष में बैठे राजनीतिक दलों ने केंद्र पर निशाना साधा है. इस बीच ओवैसी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी आपकी तपस्या में एक बार फिर कमी रह गई है. इसलिए आपको जल्द ही ये स्कीम वापस लेनी चाहिए. अन्य विपक्षी दलों ने भी केंद्र सरकार की इस स्कीम के विरोध में बयान दिया है.

9. बिहार में डिप्टी सीएम के घर पथराव – बिहार में डिप्टी सीएम के घर पर पथराव हुआ है. बेतिया में डिप्टी सीएम रेणु देवी के घर पर हुए हमले में प्रदर्शनकारियों ने जमकर बवाल मचाया है. इस हमले के बाद रेणु देवी ने आरोप लगाया, ‘विपक्षी दल गुंडागर्दी कर रहे हैं. हमला करने वाले छात्र नहीं बल्कि विपक्षी राजनीतिक पार्टियों के वो लोग हैं जो गुंडागर्दी पर उतारू हैं.’

10. रेलवे को भारी नुकसान – इस पूरे घटनाक्रम में रेलवे विभाग को भारी नुकसान होने की खबर है. सशस्त्र बलों में भारतीय युवाओं के लिए केंद्र की अग्निपथ भर्ती योजना, जिसे एक ऐतिहासिक और परिवर्तनकारी उपाय कहा जाता रहा है उसे कई राज्यों में अभूतपूर्व आंदोलन और विरोध का सामना करना पड़ा है. नौकरी की सुरक्षा और अन्य मुद्दों पर भर्ती योजना के खिलाफ बिहार, राजस्थान और कुछ अन्य राज्यों में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुए. हालांकि, कई राज्यों ने ऐसी योजनाओं की भी घोषणा की है, जहां ऐसे ‘अग्निवीर’, जिन्हें इस कदम के लाभार्थियों के रूप में आगे नौकरी देने की बात कही जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.