LAC पर ड्रैगन की नई चाल! जिनपिंग ने चीनी सैनिकों से सीधे की बात, क्या है प्लान?

Xi Jinping’s Statement: चीन (China) और भारत के बीच फिर तनाव बढ़ने की आशंका है. शी जिनपिंग (Xi Jinping) ने पूर्वी लद्दाख में तैनात चीनी सैनिकों की युद्ध की तैयारियों का जायजा लिया है.

India-China Border Dispute: चीन (China) के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) ने पूर्वी लद्दाख में भारत की सीमा पर तैनात चीनी सैनिकों (Chinese Soldiers) से बात की है. इस बातचीत में जिनपिंग ने अपने सैनिकों से कई सवाल पूछे. इसके साथ ही चीनी राष्ट्रपति ने सीमा पर चीनी सेना की युद्ध की तैयारियों का जायजा लिया है. अब ऐसे में सवाल ये उठता है कि क्या चीन सीमा पर कुछ नया प्लान कर रहा है? अरुणाचल प्रदेश में भारत और चीन के सैनिकों के बीच झड़प के बाद जिनपिंग ने कुछ ऐसा किया है जिसे भारत के लिए खास संदेश माना जा सकता है. जिनपिंग की इस बातचीत को युद्ध तैयारियों का हिस्सा माना जा रहा है.

चीनी सैनिकों से जिनपिंग ने की बात

बता दें कि अरुणाचल प्रदेश के तवांग में सीमा पर भारत और चीन के सैनिकों के बीच झड़प के बाद पहली बार चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग ने बॉर्डर पर तैनात अपने सैनिकों से बात की है. पीपल्स लिबरेशन आर्मी के कमांडर इन चीफ ने सैनिकों को बताया कि हाल के वर्षों में इस क्षेत्र में लगातार बदलाव आ रहा है और किस तरह इन बदलावों ने वहां की सेना पर असर डाला है. सैनिकों से बातचीत में जिनपिंग ने इस बात का भी जायजा लिया कि युद्ध के लिए उनके सैनिक कितने तैयार हैं.

24 घंटे अलर्ट होकर बॉर्डर की निगरानी

चीन की मीडिया के मुताबिक, एक चीनी सैनिक ने जिनपिंग को बताया कि वो 24 घंटे अलर्ट होकर बॉर्डर की निगरानी कर रहे हैं. जिनपिंग सैनिकों से सीमा पर पेट्रोलिंग को लेकर भी सवाल-जवाब किए और उन्हें लगातार कोशिश और कुछ नया करने के लिए प्रोत्साहित किया. चीन की मीडिया के मुताबिक, चीन के राष्ट्रपति ने सैनिकों से हालचाल पूछा और ये जानना चाहा कि क्या उन्हें ठंड के इस मुश्किल मौसम में दुर्गम जगह पर ताजा सब्जी मिल रही है या नहीं. इसके साथ ही जिनपिंग ने अपने सैनिकों को कोशिश करते रहने और नए योगदान देने के लिए प्रोत्साहित किया. जानकारी के मुताबिक शी ने सेना से युद्ध के लिए सतर्क रहने और राष्ट्रीय सुरक्षा और सामाजिक स्थिरता की रक्षा करने पर बात की है.

भारत-चीन के बीच हो चुकी है 17 दौर की वार्ता

पूर्वी लद्दाख में सीमा गतिरोध के संबंध में दोनों पक्षों के बीच उच्चस्तरीय सैन्य वार्ता के 17 दौर हो चुके हैं, लेकिन दोनों देशों के बीच जारी तनाव में कमी अब तक नहीं आई है. भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख स्थित LAC पर मार्च 2020 से ही तनाव जारी है. जब चीन की सेना भारतीय सीमा में पैंगोंग झील के करीब आ गई थी.
पूर्वी लद्दाख स्थित भारत-चीन का बॉर्डर दुर्गम स्थानों में से एक है. यहां सर्दियों में तापमान शून्य से 20-30 डिग्री तक नीचे चला जाता है. यहां भारत और चीन के हजारों सैनिक सरहद की हिफाजत में तैनात हैं. बता दें कि अरुणाचल प्रदेश में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हाल में हुए टकराव के बाद ये अहम मौका है जब जिनपिंग ने लद्दाख बॉर्डर में तैनात सैनिकों के साथ बातचीत की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: