लॉकडाउन में बढ़ी चाइल्ड पोर्न की मांग,133 केस दर्ज, 46 गिरफ्तार

COVID-19 सोशल

demand for child porn increased in lockdown: लॉकडाउन में बढ़ी चाइल्ड पोर्न की मांग, महाराष्ट्र में 133 केस दर्ज, 46 गिरफ्तार एक रिसर्च मुताबिक कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते, पिछले एक महीने में ‘चाइल्ड पॉर्न’, ‘सेक्सी चाइल्ड’, और ‘टीन सेक्स वीडियो’ जैसे शब्दों के ऑनलाइन सर्च में इजाफा हुआ है। देश के कई बड़ों शहरों में ऐसे मामले सामने आए हैं ये एक चिंता का विषय है।

लॉकडाउन के दौरान महाराष्ट्र में चाइल्ड पोर्नोग्राफी के मामले बढ़े हैं। महाराष्ट्र पुलिस ने चाइल्ड पोर्नोग्राफी के ऑनलाइन सर्च और कंटेट के सर्कुलेशन से जुड़े 133 केस दर्ज किए हैं। साथ ही 46 लोगों को गिरफ्तार भी किया जा चुका है।

child search on internet

महाराष्ट्र में चाइल्ड पोर्नोग्राफी के ऑनलाइन सर्च और कंटेट के सर्कुलेशन से जुड़े 133 केस दर्ज, 46 गिरफ्तार पिछले एक महीने में ‘चाइल्ड पोर्न’, ‘सेक्सी चाइल्ड’,और ‘टीन सेक्स वीडियो’ जैसे शब्दों के ऑनलाइन सर्च में इजाफा महाराष्ट्र में चाइल्ड पोर्नोग्राफर की धरपकड़ के लिए गृहमंत्री देशमुख की निगरानी में ऑपरेशन ब्लैकफेस चलाया गया

गृह मंत्रालय के अनुसार, इंडिया चाइल्ड प्रोटेक्शन फंड ने पाया कि पिछले एक महीने में ‘चाइल्ड पोर्न’, ‘सेक्सी चाइल्ड’, और ‘टीन सेक्स वीडियो’ जैसे शब्दों के ऑनलाइन सर्च में इजाफा हुआ है। देश के कई बड़ों शहरों में ऐसे मामले सामने आए हैं। यह संस्था नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी के बेटे भुवन रिभू ने इसी साल जनवरी में लॉन्च की थी इस संस्था के मुताबिक जब सब लोग घरो में लॉक है इस समय कुछ लोग ऑनलाइन में पोर्न विडिओस सर्च कर रहे है इनमे काफी तेजी से इजाफ़ा हुआ है।

गृहमंत्री ने दिए साइबर सेल को प्रयास बढ़ाने के आदेश

महाराष्ट्र में चाइल्ड पोर्नोग्राफर की धरपकड़ के लिए जनवरी से ही ऑपरेशन ब्लैकफेस चलाया जा रहा है, लेकिन कुछ दिनों से इसमें बढ़ोत्तरी हुयी तो इसमें और तेजी लायी गयी जिसमे अब तक 133 केस दर्ज और 46 लोग गिरफ्तार हुए है जिसकी निगरानी गृह मंत्री अनिल देशमुख कर रहे थे। अनिल देशमुख ने चाइल्ड पोर्न सर्च की हाई डिमांड को लेकर चिंता जाहिर की है। उन्होंने महाराष्ट्र साइबर सेल से इन्हें पकड़ने के लिए दोगुने प्रयास करने को कहा है।

समाज में पीडेफाइल और चाइल्ड रेपिस्ट ज्यादा

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि बच्चों के खिलाफ यौन अपराध को बढ़ने से रोकने के लिए टीम ने प्रयास में बढ़ोत्तरी की है। उन्होंने बताया, ‘लॉकडाउन में चाइल्ड पोर्न कंटेंट देखने में इजाफा होना दिखाता है कि समाज में बड़ी संख्या में पीडेफाइल (बच्चों की तरफ यौन रूप से आर्कषित होने वाले), चाइल्ड रेपिस्ट और चाइल्ड पोर्नोग्राफी के लती कितने ज्यादा हैं।’ इससे आने वाले समय में अपराध को बढ़ावा मिल सकता है इसलिए ये कदम उठए गए।

बच्चों पर निगरानी रखें माता पिता

पुलिस ने पैरंट्स से भी अपने बच्चों के इंटरनेट इस्तेमाल की निगरानी रखने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि बच्चों के साथ इंटरनेट चलाएं ताकि वह आपसे से सही व्यवहार सीख सके। इसके अलावा कंप्यूटर घर में ऐसी जगह रखा जाए जहां से आप बच्चों पर नजर रख सकें और देख सके की आपके बच्चे कंप्यूटर पर क्या कर रहे है।

आपका थोड़ा सा बच्चो पर ध्यान उनका और समाज का भभिष्य सँभालने में बहुत बाद योगदान दे सकता है। आप अपने बच्चो का ख्याल रक्खे उनपर निगरानी रक्खे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.