रीवा – संजय गांधी अस्पताल से सिर्फ ऐसे मरीजों को वापिस किया जा रहा है

न्यूज़ मध्यप्रदेश न्यूज़

रीवा।।संजय गांधी अस्पताल से सिर्फ ऐसे मरीजों को वापिस किया जा रहा है जिनकी स्थति भर्ती करने की नहीं है जो सही परामर्श लेकर घर में भी ठीक हो सकते है लेकिन जानकारी के अभाव के चलते खुद की लापरवाही से मरीजों को एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल भटकता पड रहा है। और इसी दरमियान मरीज घंटो घूमता रहता है जिससे कि स्थति सामान्य भी रहती है जो धिरे धिरे बिगड़ती जाती है।
इसके लिए जिला प्रशासन ने बकायदे डाक्टरों के नम्बर भी नंबर जारी किए है जिनका सिर्फ काम रहता है कि हर हाल में पर कॉल रिसीव कर उचित परामर्श देना जो घर में भी मरीज ले सकते हैं लेकिन वे यह करना उचित नहीं समझते और फिर संजय गांधी अस्पताल पहुंचकर भर्ती करने की रट लगाकर गेट के बाहर ही धूप और खुले में मरीज को बैठा कर समय बर्बाद करते हैं। जबकि की गई व्यवस्था के अनुसार पल्स चेक कर अगर मरीज की स्थति बिल्कुल गंभीर नहीं हैं तो उसे उपचार हेतु सही सलाह दी जाती है लेकिन मरीज और उनके परिजन घंटो समय बर्बाद करते हैं। और एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल भटकते रहते है जिससे कि ज्यादा से ज्यादा समय बर्बाद हो जाने के कारण मरीज की हालत हर पल कमजोर होती जाती है।
इस वक़्त प्रशासन एवम अस्पताल प्रबन्धक द्वारा अपनी क्षमता से ज्यादा मेहनत करना और व्यवस्था लगातार बनाने के लिए प्रयासरत है। अचानक बड़ी मरीजों की संख्या के चलते अस्पताल के अंदर बिल्कुल भी जगह नहीं है,अन्य सुविधाएं उपलब्ध नहीं है जिसके लिए प्रशासन द्वारा प्रयास जारी हैं जब अस्पताल में जगह ही नहीं है तो आखिर कैसे अस्पताल स्टाफ भर्ती करे।
इसलिए मरीज एवम परिजन बेवजह मरीज को लेकर सड़कों पर या सार्वजनिक परिसर में ले कर घूमना समय बर्बाद करना कतई न करे,।जिम्मेदार अधिकारी एवम जारी किए गए डाक्टरों के फोन नंबर से संपर्क कर मरीज की स्थति से अवगत करवाएं और जो भी सलाह दी जाए उस पर अमल करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.