रीवा – प्रकृति, वन्यप्राणी, पशुपक्षी सभी का संरक्षण जरूरी-सीसीएफ

न्यूज़ भारत मध्यप्रदेश न्यूज़

प्रकृति, वन्यप्राणी, पशुपक्षी सभी का संरक्षण जरूरी-सीसीएफ

बाघसखा टी शर्ट प्रतियोगिता सम्पन्न

रीवा।

मध्यप्रदेश टाइगर फॉउंडेशन सोसायटी भोपाल एवं यूथ हॉस्टल्स एसोसिएशन के तत्वावधान में रीवा में आयोजित बाघसखा टी शर्ट चित्रकला प्रतियोगिता के समस्त प्रतिभागियों को सीसीएफ आनन्द कुमार सिंह, सीएफ सतना रॉय, मान सिंह ताला, डीएफओ चंद्रशेखर सिंह, ग्रीन रीवा प्रभारी डॉ मुकेश येंगल द्वारा वन विभाग के जयन्ती कुंज परिसर के गरिमामय समारोह में मध्यप्रदेश शासन के प्रधान मुख्य वन संरक्षक वन्यप्राणी श्री आलोक कुमार द्वारा हस्ताक्षरित आकर्षक प्रमाणपत्र प्रदान किये गए। इस अवसर पर मुख्य अतिथि सीसीएफ आनन्द कुमार सिंह एवं कार्यक्रम के अध्यक्ष मान सिंह ताला ने बच्चों की कला को खुलकर सराहा और कहा कि सभी को जंगल व वन्यप्राणियों के महत्व साथ ही इस पृथ्वी के इकोसिस्टम को समझना होगा जो एक दूसरे से सीधे जुड़े हुए हैं और एक दूसरे पर निर्भर है, यदि एक भी कड़ी टूटनी नही चाहिए, सभी का संरक्षण जरूरी है। बच्चों ,युवाओं सहित प्रत्येक व्यक्ति के मन मस्तिष्क में टाइगर सहित अन्य वन्यप्राणियों और जंगल के महत्व को समझाने के साथ ही उनके प्रति रुचि जाग्रत करने के उद्देश्य से प्रदेश के प्रत्येक जिले में बाघसखा टी शर्ट प्रतियोगिता का आयोजन कर भोपाल से सफेद टीशर्ट उपलब्ध कराई गई जिसपर बच्चों और युवाओं ने अपनी कला का परिचय देते हुए टाइगर, व अन्य वन्यप्राणियों के सुंदर चित्र बनाये। आयोजित समारोह में सीसीएफ आनन्द कुमार सिंह, सीएफ सतना रॉय, मान सिंह ताला, डीएफओ चंद्रशेखर सिंह, ग्रीन रीवा प्रभारी डॉ मुकेश येंगल, केन्द्रीय विद्यालय की श्रीमती शैलजा सिंह, क्षत्रिय महासभा के रावेन्द्र सिंह, रिएक्ट संस्था के गोपाल सिंह, रोहित जायसवाल, लावणी येंगल, सृष्टि सिंह, सौम्या रॉय सहित विभिन्न विद्यालयों एवं महाविद्यालय के छात्र छात्रायें उपस्थित रहीं। सभी सदस्यों ने जयन्ती कुंज परिसर का भ्रमण कर विभिन्न पेड़ पौधों के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की तथा ग्रह नक्षत्रों के आधार पर लगाये जाने वाली नवग्रह वाटिका को भी देखा। कार्यक्रम संयोजक डॉ मुकेश येंगल ने वन विभाग, यूथ हॉस्टल्स एसोसिएशन एवं मध्यप्रदेश टाइगर फॉउंडेशन सोसायटी भोपाल सहित उपस्थित अतिथिओं के प्रति आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.