योगी सरकार को चेतावनी पासी समाज का उत्पीड़न बर्दास्त नहीं – संजय पासी

उत्तरप्रदेश न्यूज़ भारत

लोकेशन रायबरेली।


अंशू श्रीवास्तव जिला संवाददाता रायबरेली




योगी सरकार को चेतावनी पासी समाज का उत्पीड़न बर्दास्त नहीं – संजय पासी*

– राष्ट्रीय पासी सेना के कार्यकर्ताओं को ज्ञापन देने जाने से पुलिस ने रोका
– उ0प्र0 के विभिन्न जिलों मे पासी समाज पर पुलसिया कहर

रायबरेली, 22 जुलाई, 2021!

राष्ट्रीय पासी सेना के अध्यक्ष संजय पासी ने उ0प्र0 की योगी सरकार को चेतावनी दी है कि पासी समाज का उत्पीड़न किसी कीमत पर बर्दास्त नहीं किया जायेगा, हम लोग राजा सुहेलदेव, बिजली पासी, वीरा पासी के वंशज हैं। अपने स्वाभिमान व सम्मान की रक्षा के लिए किसी से भी टकरा सकते हैं, पासी समाज मार्शल कौम है, हम कहीं से भी बुजदिल नहीं है, लेकिन हम अपनी बात संविधान के दायरे में रखना चाहते हैं। संविधान में प्रदत्त अधिकारों के तहत पासी समाज अपने समाज के लोगों पर हुए पुलसिया कहर व उत्पीड़न के विरोध में शांतिपूर्वक तरीके से प्रदर्शन करते हुए ज्ञापन देने जा रहे थे तो पुलिस बल द्वारा उनहें रोक लिया गया। संजय पासी ने हा कि शासन व प्रशासन हमारे धैर्य की परीक्षा न लें। राष्ट्रीय पासी सेना जिन मांगों के समर्थन में प्रदर्शन किया उनमें से आजमगढ़ जिले के पलिया प्रधान मुन्ना पासवान व उनके सहयोगियों पर दर्ज किए गए फर्जी मुकदमें वापस लिए जाए एवं मुन्ना पासी व सहयोगियों के घरों को जे.सी.बी. द्वारा धराशायी करने व महिलाओं के साथ की गयी अभद्रता का मुकदमा पुलिस व प्रशासन के लोगों पर पंजीकृत किया जाए। आजमगढ़ जिले के किशुनदासपुर निवासी राजेश सरोज की हत्या का मुकदमा पंजीकृत कराया जाय। प्रयागराज जिले के चकिया धरहरा निवासी 11 वर्षीय छात्रा श्रद्धा भारतीय की बलात्कार कर तेजाब डालकर की गयी हत्या का मुकदमा पंजीकृत किया जाय, इस मामले में पुलिस द्वारा लीपा-पोती की जा रही है। प्रयागराज जिले के इंदरपुर ग्राम निवासी मुन्ना पासी को सवर्णाे द्वारा मारपीटकर गम्भीर रूप से घायल कर दिया जिसका मुकदमा पंजीकृत कराया जाय। कौशाम्बी जिले के भोजपुर गाँव निवासी नाबालिग उमा पासी के साथ हुए गैंगरेप के आरोपियों को अविलम्ब गिरिफ्तार किया जाय। पुलिस चौकी बरियांवा थाना चरवा के द्वारा सुरेश पासी को थाने में नंगा कर पीटा गया, पुलिस चौकी प्रभारी बरियांवा के विरूद्ध मुकदमा कायम किया जाय। श्री पासी ने सरकार को चेतावनी दी कि यदि कांर्यवाही समय से नहीं हुई तो पुनः आन्दोलन के लिए पासी समाज बाध्य होगा, जिसकी समस्त जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.