भूखों मरने की कगार पर गरीब , करोना महामारी बनी आफत |

Coronavirus

मनगवां—– एक ओर जहां चीन से आई करोना महामारी को देखते हुए शासन प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है एवं लोगों तक घर- घर भोजन एवं उचित व्यवस्था बनाने का निर्देश दिया है वहीं दूसरी ओर इन सब नियमों को दरकिनार करते हुए मनगवां में दूर-दराज से आए लोग परेशान है ज्ञात हो कि 20 मार्च को मनगवा के प्रसिद्ध बाबा अनवर शाह की मजार पर विगत 80 वर्षों से मेले का आयोजन किया जाता रहा है जहां दूरदराज से दुकानदार मेले में जादू एवं झूले को लेकर आते रहते हैं  जिस पर इस वर्ष भी कई दुकानदार आए हुए थे मेला स्थगित होने की वजह से देश में आई करोना महामारी के चलते मेला स्थगित हो गया और यह दुकानदार यही मनगवा में ही झूले को सजा कर तैयार रह गए ।

मेला ना होने की वजह से इनके पास आर्थिक तंगी का अभाव रहा साथ ही  लाक डाउन की वजह से यह लोग कहीं नहीं जा पा रहे हैं जिस स्थल पर मेला लगना था उसके ठीक बाजू में नगर परिषद का कार्यालय है मेला कमेटी के  अध्यक्ष पप्पू अंसारी द्वारा जाकर नगर परिषद के सीएमओ से आग्रह किया गया कि  मेले में आए कुछ दुकानदारों की वैकल्पिक व्यवस्था करवा दी जाए इन्हें पीनेके लिए एक टैंकर पानी दे दिया जाए  फिर भी कोई व्यवस्था नहीं की गई ।

 अब यह सारे लोग भूखों मरने की कगार पर पहुंच गए हैं इनमें से प्रमुख रूप से तेज सिंह ग्वालियर, गुन्नू पांडे छतरपुर ,महेंद्र सिंह सिहोरा, मेवालाल चौधरी कटनी, रामस्वरूप श्रीवास छतरपुर, महेंद्र सिंह सिहोरा समेत कई अन्य दुकानदारों ने छोटे-छोटे बच्चों को लेकर जीविकोपार्जन के लिए मनगवा में आए थे लेकिन अब यह पूरी तरह से परेशान नजर आ रहे हैं मेला कमेटी के द्वारा ₹2500 का अनुदान दिया गया जिससे अभी तक इनका पेट चलता रहा अब यह सब परेशान इधर-उधर भटक रहे हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.