बारिश के बाद दिल्ली, UP, पंजाब में बढ़ी ठिठुरन, मौसम विभाग का नए साल तक उत्तर भारत में शीतलहर का अलर्ट

उत्तरप्रदेश नई दिल्ली न्यूज़ भारत

कोरोना संकट के बीच गुजरते साल 2021 के अंतिम दिनों में भी ठंड अपने शबाब पर है और कई जगहों पर जोर की ठंड पड़ रही है. उत्तर प्रदेश, मध्‍य प्रदेश पंजाब, हरियाणा तथा राजधानी दिल्‍ली समेत कई राज्‍यों में मौसम और खराब होता जा रहा है क्योंकि इन राज्यों में कई जगह बारिश हो रही है.

बारिश की वजह से ठिठुरन और गलन भी बढ़ गई है.

इससे पहले मौसम विभाग ने आज दिन में आमतौर पर बादल छाए रहने के साथ ही हल्की बारिश या बूंदाबांदी का पूर्वानुमान जताया था. जबकि दिल्ली में अधिकतम तापमान के 18 डिग्री सेल्सियस रहा. दिल्ली, नोएडा और गाजियाबाद समेत एनसीआर के कई इलाकों में आज दिन भर हल्की बूंदाबांदी होती रही. रात में भी बादल बने हुए हैं और कहीं-कहीं बूंदाबांदी होने के आसार हैं.

अगले 4 दिन बढ़ेगी ठिठुरन

मौसम विभाग (imd) ने कल से साल के आखिरी दिन तक (29 से 31 दिसंबर के बीच) उत्तर भारत के अधिकतर राज्यों में शीतलहर (cold wave) के असर से ठिठुरन और बढ़ने की उम्मीद जताई है. मौसम विभाग ने भविष्यवाणी की है कि पश्चिमी विक्षोभ (western disturbance) के असर से दिसंबर के अंत में कई राज्यों में बादल छाए दिखेंगे. साल के अंतिम 4 दिनों में रात और सुबह में पंजाब, हरियाणा, उत्तरी राजस्थान में अलग-अलग हिस्सों में घना कोहरा नजर आएगा.

मौसम विभाग की ओर से कहा गया कि आज मंगलवार को दिल्ली का न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री अधिक 9.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री कम 18 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

मौसम विज्ञान विभाग (imd) ने बुधवार को घने कोहरे की भविष्यवाणी की है. आईएमडी ने कहा, “कल बुधवार का न्यूनतम और अधिकतम तापमान क्रमश: 8 और 20 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा.” मौसम विभाग ने बताया कि मंगलवार शाम 5.30 बजे सापेक्षिक आर्द्रता 90 प्रतिशत रही.

बिहार और उत्तराखंड में भी बारिश की चेतावनी

मौसम विभाग (imd) का कहना है कि बिहार में भी मंगलवार और बुधवार को कुछ इलाकों में बारिश होने के आसार हैं, जिसका असर मौसम पर पड़ेगा और यहां पर भी न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज हो सकती है. हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में भी हल्की बारिश होने की संभावना है.

दूसरी ओर, दिल्ली की वायु गुणवत्ता मंगलवार को कम हवा की गति के कारण “बहुत खराब” श्रेणी में आ गई, जबकि शहर का अधिकतम तापमान मौसम के औसत से 3 डिग्री कम 18 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली का 24 घंटे का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) शाम चार बजे 305 दर्ज किया गया. दिल्ली के पड़ोसी शहरों फरीदाबाद (300), गाजियाबाद (286), गुरुग्राम (283), ग्रेटर नोएडा (288) और नोएडा (274) के एक्यूआई ‘खराब’ श्रेणी में दर्ज किए गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.