फैशन इंडिया अवार्ड ने चंदेरी को सम्मानित किया

नई दिल्ली न्यूज़ बॉलीवुड न्यूज़ भारत





फैशन इंडिया अवार्ड ने चंदेरी को सम्मानित किया

नईदिल्ली : फैशन उद्योग में नवोन्मेषकों को प्रोत्साहित करने के लिए इंडिया फैशन अवार्ड्स ने 25 सितंबर को अपना दूसरा सत्र आयोजित किया। जिसमें मनीष मल्होत्रा, तरुण तहिलियानी, सुनीत वर्मा और जैसे अन्य डिजाइनरों सहित अन्य श्रेणियों में फैशन जगत के लोगों को नईदिल्ली में आयोजित भव्य समारोह में सम्मानित किया गया।


पुरस्कार समारोह शनिवार को नई दिल्ली में हुआ और इसे “फैशन उद्योग के गुमनाम नायकों” का जश्न मनाने के लिए तैयार किया गया था। यह पहल एक ऐसी जगह बनाने की दिशा में एक कदम है जहां फैशन का जश्न मनाया जा सके। कार्यक्रम में देश भर से फैशन जगत के लोग या तो पुरस्कार प्राप्त करने या जीतने वालों का जश्न मनाने और हौसला बढ़ाने के लिए मौजूद रहे।
संस्थापक संजय निगम ने कहा कि जब हम इंडिया फैशन अवार्ड्स का मानना है कि हर प्रतिभा को पीढ थपथपाने की जरूरत है और हम बोर्ड ऑफ इंडिया फैशन अवार्ड्स उस मंच का निर्माण कर रहे हैं। महामारी के दौरान हमने कठिन समय के दौरान जीविकोपार्जन के लिए मॉडल, कलाकार और बैकस्टेज टीमों की मदद करने की भी कोशिश की। पुरुस्कार चयन जूरी में श्री मति मेनका गांधी, क्रिएटिव डायरेक्टर-रॉकी एस, सोनालिका सहाय, रवि जयपुरिया, प्रसाद नाइक और वरुण राणा, चेयर पर्सन-बोर्ड इंडिया फैशन अवार्ड्स वागीश पाठक शामिल थे। नामांकन और विजेताओं का चयन उद्योग में उनके योगदान के साथ-साथ विशिष्टता और निरंतरता को ध्यान में रखते हुए किया गया था।
इसके अलावा विरासत नगर चंदेरी के तीन कारीगरों और बुनकरों को फैशन उद्योग में उनके असाधारण योगदान के साथ-साथ उनकी पहल के लिए एक विशेष मान्यता की पेशकश की गई, जो बुनकर बिरादरी के निचले अनसुने तबके को ऊपर उठा रहे हैं, जिसमें श्री हुकुम चंद्र कोली शामिल हैं जो एक बुनकर सहकारी समिति चला रहे हैं महिलाओं और पुरुषों को साथ लेकर पर्यटन ग्राम प्राणपुर में परम्परागत बुनाई कला को बढ़ावा देने का महत्वपूर्ण कार्य कर रहे हैं । महेश कुमार कोली सूती साड़ियों और सफा (पगड़ी) और रेशम की साड़ियों के लिए अपने शानदार काम के लिए जाने जाते हैं, जो 35 वर्षों से सक्रिय हैं। महेश ने बनेवर, नालफेर्मा नक्सी बॉर्डर और बहुत कुछ की पारंपरिक बुनाई कला में महारत हासिल की है और यह हुनर अपनी आने वाली पीढ़ियों को सिखा रहे हैं। तेहत्तर वर्षीय उम्र में बुनकर से मास्टर बुनकर बने अब्दुल मुसब्बीर टुनटुनी जी ने चंदेरी साड़ियों के क्षेत्र में बहुत महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उन्होंने कई औद्योगिक घरानों, शाही परिवारों और प्रसिद्ध डिजाइनरों के लिए चंदेरी वस्त्र बनाकर प्रशंसा अर्जित की है। उन्होंने खुद को बुनते हुए कई बुनकरों को रोजगार के अवसर भी प्रदान किए। वह भारत सरकार द्वारा बनाए गए हैंडलूम पार्क में अपनी वर्कशॉप भी संचालित करते हैं और घर पर बुनकरों के साथ-साथ समय की आवश्यकता के अनुसार नवीन प्रयोग भी करते हैं।
इस अवसर पूर्व केंद्रीय मंत्री व सांसद श्रीमति मेनका गांधी, केंद्रीय राज्य मंत्री बी. एल. वर्मा, दिल्ली सरकार में जल मंत्री राघव चढ्ढा, अभिनेता सुनील ग्रोवर समेत फैशन की दुनिया के अनेक ख्यातिप्राप्त लोग शामिल हुए और चंदेरी वस्त्र बुनकरों के सम्मान में खड़े होकर तालियां बजाईं। कार्यक्रम का संचालन प्रसिद्ध अभिनेता और प्रस्तोता हुसैन ने किया।

ऑल इंडिया टुडे
लोकेशन .चंदेरी
रिपोर्टर /केशव कोली चंदेरी जिला ब्यूरो चीफ

Leave a Reply

Your email address will not be published.