प्रेग्नेंसी के 35 वें सप्ताह में गर्भपात की मिली अनुमति

नई दिल्ली न्यूज़ भारत

गर्भपात से जुड़े एक मामले में कोलकाता हाई कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाया है . कोर्ट ने प्रेग्नेंसी के 35 वें हफ्ते में 36 वर्षीय गर्भवती महिला को गर्भपात कराने की मंजूरी दे दी है . देश में ऐसा पहली बार हुआ है , जब किसी कोर्ट ने 35 सप्ताह की गर्भावस्था को खत्म करने की अनुमति दी है . कोर्ट ने गुरुवार को इस मामले में फैसला सुनाया . गर्भपात के लिए महिला और उसके पति की तरफ से कोर्ट में याचिका दाखिल की गई थी .

न्यायमूर्ति राजशेखर मथा की अध्यक्षता वाली पीठ ने अपने आदेश में कहा कि महिला राज्य सरकार के द्वारा संचालित sskm अस्पताल के डॉक्टरों की टीम से गर्भपात करा सकती है . लेकिन गर्भपात के दौरान होने वाली किसी भी जटिलता ( complication ) की जिम्मेदारी उसकी ही होगी .

इस मामले पर कोर्ट ने sskm अस्पताल के डॉक्टरों की एक टीम गठन किया था . टीम ने महिला की जांच कर कोर्ट के सामने मेडिकल रिपोर्ट पेश की थी . रिपोर्ट में बताया गया था कि किसी भी हालत में बच्चे की सामान्य डिलिवरी नहीं कराई जा सकती . मेडिकल बोर्ड ने अपनी रिपोर्ट में यह भी कहा था कि किसी तरह बच्चा जन्म भी ले लेता है तो वह सामान्य जिंदगी नहीं जी सकेगा .

Leave a Reply

Your email address will not be published.