पौधे से पेड़ का सफर …..

शिक्षा सोशल

लड़की , यह शब्द सुनते ही कितनी बातें हमारे मन में आन े लगती हैे। लड़की जब पैदा होती है, तब परिवार के कुछ सदस्य बहुत प्रसन्न होते है । परन्तु , कुछ लोग ऐसे परेशान हो जाते है कितना बुरा हो गया कि एक लक्ष्मी ने जन्म ले लिया । पर वह लोग यह  भुल जाते है जिसे वह अपने घर का ग्रहण समझ रहे है , वह एक दिन दो-दो घर की इज्जत बनेगी ।
कुछ ऐसे पहलु जो केवल एक लड़की का पिता समझ पाता है कुछ लाइन…..

बाप की आंख का तारा एक पौधे से पेड़ बनने तक का सफर।।..

पौधे की जब एक कली खिलती हैे , तब माली बहुत प्रसन्न होता हैे ।
उसी भांति जब बेटी चलना सिखती है , तब पिता भी बहुत खुश होता है ।।

जब पौधा धीरे-धीरे बढ़ने लगता हैे , तब माली झुम उठता है ।
उसी भांति जब बेटी बोलना सिखती है , और उसके मुंह से उसका पहला शब्द पापा निकलता है , तब पिता झुम उठता हैे ।

पौधा पेड़ बनने लगता है , तब माली नाचता है ।
उसी के भांति जब बेटी बड़ी होने लगती है ,तब पिता नाचता हैे।।

परन्तु एक दिन कुछ लोग पेड़ को तोड़ने की बात करते है , तब माली भी टूट जाता है ।
उसी भांति जब बेटी के ससुराल वाले उसको तंग करते है , तब पिता टुट जाता है।।

एक बेटी जब शादी करके किसी दुसरे के साथ उसके घर चली जाती है, और उसके घर के सदस्यों को मां ,पिता और उसके बहन और भाई को अपना मानने लगती है । उन अनजान रिश्ते को कितना बखुबी निभाने लगती है । पर न जाने क्यो उसको वहा उसके घर जैसा सम्मान  , स्नेह नही मिलता है ?  
क्यों सब बेटी पैदा होने पर शोक मनाते है?

  • सबसे मुख्य कारण यह है कि लड़के वाले दहज की मांग करते है ।
  • कुछ कारण यहा , यह भी है कुछ माता अपने बच्चो को मन से अलग नही कर पाती ।
  • पति अपनी पत्नी के साथ मार- पीर करता है ।
  • बेमेल विवाह भी प्रमुख कारण है।
  • किसी भी तरह की जोर जबरदस्ती से विवाह ।

क्यों आप ऐसे काम करते है, जिससे किसी बेटी की जिंदगी खराब हो जाए । कितने लाड़ से पालते है उस लड़की के घर वाले और आप कुछ निम्न बातो ं की वजह से मार-पीट करते हो। ( जानवर भी ऐसा नही करते ) और कुछ लोग जिंदा जला देते है , आधी रात को घर से बहार  निकाल देते है । उसको इतना परेशान करते है कि उसकी दिमागी हालत को खराब कर दे ।

आपको ऐसा करने से मिलता है कुछ ? कुछ जरुरी डाटा जिससे यह सब सबित हुआ ।

  • दहेज के कारण हर घंण्टे एक महिला की हत्या जरूर होता है । ( 2015 के आंकड़े के हिसाब से बीते 3 सालो में 24,771 हत्या हुई । )
  • मारने से आए दिन हत्या ।

मान जाओ , तु्म्हारे भी लड़की होगी उसके साथ जब होगा उतना ही दर्द होगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.