पूरे महीने शाम 6:30 बजे के बाद बिना टेलीस्कोप के देख सकेंगे मंगल ग्रह

न्यूज़

शाजापुर

जिले के खगोल प्रेमियों के लिए इस माह आसमान में अद्भुत नजारा देखने को मिलेगा। तारा मंडल प्रभारी अशोक शर्मा ने बताया की शाम को 6:30 से पूरी रात मंगल ग्रह आकाश में देखा जा सकता है। शाम को यह ग्रह पूर्व से उदय होकर भोर होते होते पश्चिम में अस्त हो जाएगा। यह नजारा पूरे माह देखने को मिलेगा। मंगल ग्रह सौरमंडल में सूर्य का चौथा ग्रह है। पृथ्वी से इसकी आभा नारंगी दिखाई देती है। इसी वजह से इसे लाल ग्रह के नाम से भी हम जानते हैं।

पृथ्वी की तरह मंगल भी एक स्थलीय धरातल वाला ग्रह है। इसका वातावरण विरल है। इसकी सतह देखने पर चंद्रमा की सतह जैसी और पृथ्वी पर दिखाई देने वाले रेगिस्तान, चट्टान की घाटियां, बर्फीले ध्रुव और उनकी चोटियां आदि के समान दिखाई देती है।

सौरमंडल के ग्रहों में सबसे ऊंचा पर्वत ओलंपस मोन्स मंगल पर ही स्थित है। मंगल ग्रह अपने दो उपग्रहों के साथ सूर्य की परिक्रमा करता है। उपग्रहों के नाम फोबोस और डिवोस हैं। जो छोटे और अनियमित आकार के हैं। मंगल ग्रह सूर्य की एक परिक्रमा 687 दिनों में पूरी करता है। मंगल ग्रह की सूर्य से औसत दूरी 227 मिलियन किलोमीटर है।

तारा मंडल प्रभारी अशोक शर्मा बताते हैं की शहर वासियों को यह अद्भुत नजारा दिखाने के लिए व्यवस्था की जा रही है। शहर के उत्कृष्ट विद्यालय में संभवत 10 नवंबर टेलीस्कोप के माध्यम से रात 8 बजे से लेकर 9 बजे तक कोई भी व्यक्ति आकर यह नजारा देख सकता है। कोविड-19 के नियमों का करते हुए अद्भुत नजारा देखने शहरवासी आएं। तारा मंडल प्रभारी शर्मा ने बताया कि वर्तमान में बृहस्पति एवं शनि ग्रह को शाम से लेकर रात की 2 बजे तक भी देखा जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.