नैनीताल:लॉकडाउन का असर झीलों पर आया नजर, नैनी झील का पानी हुआ इतना साफ की 20 फीट गहराई तक दिखा अद्भुत नजारा

भारत स्वास्थ्य और सौन्दर्य

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का लॉकडाउन का फैसला भले ही कोरोना की चेन को तोड़ने के लिए लिया गया हो लेकिन इसका सबसे दूरगामी प्रभाव पर्यावरण भी पड़ा है। उत्तराखंड में लॉकडाउन का असर ऐसा हुआ कि नैनीताल की खूबसूरती में चार चांद लग गए।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का लॉकडाउन का फैसला भले ही कोरोना की चेन को तोड़ने के लिए लिया गया हो लेकिन इसका सबसे दूरगामी प्रभाव पर्यावरण भी पड़ा है। उत्तराखंड में लॉकडाउन का असर ऐसा हुआ कि नैनीताल की खूबसूरती में चार चांद लग गए। लॉकडाउन की वजह से नैनी झील बहुत साफ-सुथरी हो गई है। इसकी वजह से पानी में 20 फीट नीचे तक की मछलियां साफ दिखने लगी हैं।

जानकारी के अनुसार पर्यावरणविद् अजय रावत ने बताया कि लॉकडाउन के कारण नैनीताल में पर्यटकों का आना बंद हो गया है। जिससे वहां प्रदूषण बिल्कुल कम हो गया है। पर्यटकों के न आने और लोगों के घरों से कम निकलने के कारण कूड़ा कचरा भी कम हो रहा है। वहीं, नैनीझील में बोटिंग भी बंद है। ऐसे में वहां का पानी काफी साफ होकर चांदी सा चमक रहा है।

इस दौरान बारिश होने से भी साफ पानी झील में बढ़ा है। शहर में पिछले साल इन दिनों 10 एमएलडी पानी की सप्लाई होती थी जिसका मुख्य स्रोत नैनी झील ही है।
पर्यटक न होने के कारण इन दिनों पानी की सप्लाई आठ एमएलडी हो रही है। इससे झील का जलस्तर बढ़ गया है।

पिछले साल इस समय झील का जलस्तर लगभग तीन फीट था। जो वर्तमान में छह फीट हो गया है। पर्यावरणविद् रावत का कहना है कि सबसे ज्यादा फर्क झील की पारदर्शिता पर पड़ा है। जहां केवल सतह से तीन चार फीट नीचे तक ही दिखाई देता था आजकल 20 फीट गहराई तक की मछलियां नजर आने लगी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.