नईदिल्ली :16 साल के बच्चे सार्थक ने सेंसर डोरबेल का आविष्कार किया. इस डोरबेल को 20 सेंटीमीटर की दूरी से बजाया जा सकता Sensor Doorbell

COVID-19 भारत विज्ञान-टेक्नॉलॉजी सोशल

कोरोना वायरस से संक्रमण का खतरा किसी भी सतह को छूने से बढ़ जाता है. लिहाजा घर की घंटी को घरों में प्रवेश करने वाले लोग, कई बार छूते हैं और जाने अनजाने में खतरा मोल लेते हैं.

शालीमार बाग इलाके के मॉडर्न पब्लिक स्कूल में पढ़ने वाले एक विद्यार्थी ने प्रधानमंत्री मोदी की बात पर गौर करते हुए एक आविष्कार किया है और अपनी हिस्सेदारी को पीएम के नाम भी किया है.16 साल के बच्चे सार्थक ने सेंसर डोरबेल का आविष्कार किया. इस डोरबेल को 20 सेंटीमीटर की दूरी से बजाया जा सकता है.

सार्थक ने एक अपने घर के दरवाजे पर सेंसर बेल को लगा दिया है. साथ ही सार्थक ने न्यूज़ चैनल को डेमो कर अपना कमाल का आविष्कार दिखाया

Leave a Reply

Your email address will not be published.