दुनिया के महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन को मृत एलियंस के शवों को देखने के लिए अमेरिका ले जाया गया था.

Coronavirus

एलियंस की मौजूदगी को लेकर इन दिनों अमेरिका सहित कई देशों में चर्चा का बाजार गर्म है और अब एक टेप ने इसे और हवा दे दी है. हाल ही में एक टेप के सामने आने के बाद दावा किया जा रहा है कि दुनिया के महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन को मृत एलियंस के शवों को देखने के लिए अमेरिका ले जाया गया था.

टेप की गई बातचीत में कहा गया है कि बेहद प्रतिभाशाली वैज्ञानिक आइंस्टीन को ब्रिटेन से गुप्त एजेंटों द्वारा 1947 में न्यू मैक्सिको के रोसवेल में एक दुर्घटनाग्रस्त यूएफओ के मलबे की जांच करने के लिए भेजा गया था जिसमें एलियंस मौजूद थे.

उस टेप के आधार पर दावा किया जा रहा है कि आइंस्टीन और उनके सहायक डॉ शर्ली राइट को “यूएफओ” के शवों और दुर्घटना स्थल की जांच करने के लिए सरकारी निर्देश के तहत साइट पर भेजा गया था.

जो ऑडियो टेप सामने आया है उसमें शर्ली के साथ साक्षात्कार की बातें रिकॉर्ड हैं. दावे के मुताबिक शर्ली ने उस टेप में कहा था कि उन्हें “सच्चाई को प्रकट करने से पहले  इतिहास के लिए अपना दायित्व” महसूस हुआ.

डॉ शर्ली राइट के इस इंटरव्यू को 1993 में रिकॉर्ड किया गया था लेकिन इसे अब सार्वजनिक किया गया है. टेप के आधार पर दावा किया जा रहा है कि डॉ शर्ली ने कहा उन्हें घटना वाली जगह पर विदेशी विमान दिखाया गया था जो एक  डिस्क के आकार का था. उन्होंने कहा कि वो यूएफओ पूरी तरह क्षतिग्रस्त दिखाई दे रहा था. टेप में कहा जा रहा है कि एलियंस को लेकर डॉ शार्ली ने कहा था, “जहाज के अंदर एक शरीर  था जिसे मैं एक प्रतिबिंबित सामग्री कह सकता था लेकिन जब आप इसके करीब पहुंचे तब तक वो काफी सुस्त हो चुका था.  

Leave a Reply

Your email address will not be published.