क्या क्या जानना जरूरी है गर्भावस्था से जुड़े रोचक तथ्य, जो शायद आपको ना पता हो

रोचक तथ्य

एक महिला के लिए गर्भावस्था का समय बहुत ही मुश्किल भरा होता है, जहां एक महिला को मां बनने की खुशी हो रही होती है, तो वही उसे मूड स्विंग, बढ़ते हार्मोनल बदलाव और कई तरह के दर्द का सामना भी करना पड़ता है। गर्भावस्था के दौरान एक महिला के हार्मोन में कई तरह के बदलाव आते है जिसकी वजह से उसके शरीर और दिमाग में बहुत सारे बदलाव आते हैं। घर के और बाहर के कामों के साथ-साथ इन बदलावों को संभालना बहुत मुश्किल हो जाता है, हालांकि अधिकांश परिवर्तन महिला को पहले से पता होते हैं।
डॉक्टर भी गर्भवती महिलाओं को इन सबके बारे में बता देती हैं। आइए जानते हैं कुछ ऐसे रोचक तथ्य जो गर्भावस्था (Facts about Pregnancy) के दौरान देखे महिलाओं में देखे जाते हैं।

गर्भाशय की वृद्धि होना (The mind-blowing growth of the uterus)

गर्भावस्था के दौरान आपका गर्भाशय अपने आकार के करीब 500 गुना से भी ज्यादा बड़ा हो जाता है। आप इस बात को इस तरह से सोच सकते हैं जैसे कि आपका गर्भाशय संतरे के आकार जितना हो और वह तरबूज जितना बड़ा हो जाए। गर्भाशय का इतना बड़ा होना शिशु के विकास के लिए बहुत ही आवश्यक होता है।यह बदलाव प्रायः गर्भावस्था के तीसरे महीने से देखे जा सकते हैं।

शरीर में दूध बनना (Can Make You Lactate)

गर्भावस्था के आखिरी सप्ताह में जब आप शिशु के रोने की आवाज सुनती हैं तब आपके शरीर में अपने आप दूध बनने लग जाता है। एक महिला का शरीर गर्भावस्था के आखिरी हफ्ते में ही दूध बनाना शुरू कर देता है ताकि शिशु को जन्म के बाद उसके भोजन की जरूरत पूरी हो जाए। जब किसी और का बच्चा भी रो रहा होता है तब गर्भवती महिलाओं का दिमाग सिग्नल देने लगता है जिससे उनका शरीर अपने आप दूध बनाने लगता है जो कि आश्चर्यजनक बात है।

जुड़वाँ बच्चे पैदा होना

ज्यादा वजन और लंबी महिलाओं के जुड़वा बच्चे होने की संभावना ज्यादारहती है,, अगर आप अपनी आसपास की महिलाओं से ज्यादा लंबी है या फिर आपका वजन आम महिलाओं के वजन से ज्यादा है तो हो सकता है कि आपको जुड़वा बच्चे हो क्योकि इसमें जुड़वाँ बच्चे पैदा होने की सम्भावना बाद जाती है।

आप गर्भावस्था के दौरान भी गर्भवती हो सकती हैं (You can get pregnant, while you are pregnant)

यह एक आश्चर्यजनक जनक बात से बिलकुल कम बात नहीं है, परंतु यह सच है कि एक महिला गर्भावस्था के दौरान भी गर्भवती हो सकती है। उदहारण के तौर पर, 2009 में अमेरिका में एक महिला जूलिया के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ था। जूलिया जुड़वा बच्चों की उम्मीद कर रही थी परंतु अल्ट्रासाउंड में पता चला कि उनके गर्भाशय में दो अलग-अलग आकार के भ्रूण थे। ऐसा तब हुआ जब उन्होंने 2 हफ्ते के अंतराल में ही दो बार गर्भ धारण किया। दोनों भ्रूण अपनी-अपनी गति से बढ़ रहे थे और उनका जन्म भी अलग-अलग समय पर हुआ था। वैसे इस तरह की स्थिति बहुत कम आती है। ऐसे केस केवल 11 ही हैं और इसे सुपर फैटेशन (Superfetation) का नाम दिया जाता है, या कहा जाता है।

बच्चे मां की कोख में अजीब चीजें भी करते हैं (Babies in the womb may do weird things)

पहले से यह अनुमान नहीं लगा सकती है कि अगले अल्ट्रासाउंड में आपको क्या देखने को मिलेगा। अल्ट्रासाउंड में आप देखेंगे कि आपका नन्हा सा बच्चा कभी अंगूठा चूस रहा है, हाथ हिला रहा है, सर हिला रहा है इत्यादि। अगर जुड़वा हो तो वे एक दूसरे का हाथ पकडे हुए हैं या फिर एक दूसरे को लात मार रहे हैं आदि। इसमें ही लोग घबरा जाते है लेकिन यह तो यह आम बात है इसमें आपको चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है।

लड़की के भ्रूण और उसके अंडे (Baby girls and eggs)

मां के गर्भ में रहते-रहते ही लड़की के भ्रूण के सारे अंडे विकसित हो जाते हैं जो कि उसे पूरी जिंदगी भर चाहिए होते हैं जबकि लड़के के भ्रूण, मां की कोख में इन सबका उत्पादन नहीं कर पाते हैं।

ज्‍यादातर प्रेग्नेंट महिलाओं का चेहरा दूसरे ट्राइमेस्‍टर के आते-आते ग्‍लो करने लगता है. ऐसा इसलिए होता है क्‍येांकि दूसरे ट्राइमेस्‍टर में मॉर्निंग सिकनेस लगभग खत्‍म सी हो जाती है. यही नहीं होने वाली मां पहले से ज्‍यादा अच्‍छी तरह खाने-पीने लगती है, ब्‍लड सर्कुलेशन बेहतर हो जाता है और तबीयत अच्‍छी हो जाती है. यही वजह है कि चेहरा भी ग्‍लो करने लगता है.

प्रेग्‍नेंसी के दौरान सेक्‍स करना पूरी तरह से सुरक्ष‍ित है बशर्ते की डॉक्‍टर ने मना ना किया हो. अगर कोई दिक्‍कत न हो तो ज्‍यादातर महिलाएं प्रग्‍नेंसी के आख‍िरी महीने तक सेक्‍स कर सकती हैं. सेक्‍स करने से लेबर पेन नहीं उठते ये गलत धारणा है की प्रग्‍नेंसीके दौरान सेक्स नहीं करना चाहिए .

Leave a Reply

Your email address will not be published.