कोरोना से जंग में भारत की मदद को आगे आया फ्रांस, भेजेगा ऑक्सीजन और वेंटिलेटर

न्यूज़ विदेश

कोरोना वायरस से भारत में तबाही मची हुई है। आए दिन अस्पतालों में बढ़ते मरीजों ने चिंता पैदा कर दी है। वहीं ऑक्सीजन के कारण मरीजों की मौत हो रही है। 
इस बीच कोरोना के खिलाफ जंग में भारत की मदद के लिए फ्रांस आगे आया है। फ्रांस ने घोषणा की है कि वह भारत को आठ उच्च क्षमता वाले ऑक्सीजन जनरेटर, पांच दिनों के लिए 2000 रोगियों के लिए लिक्विड ऑक्सीजन, साथ ही 28 वेंटिलेटर और आईसीयू के लिए उपकरण प्रदान करेगा। 

2000 मरीजों को लिक्विड ऑक्सीजन

फ्रांसीसी राजदूत इमैनुअल लेनिन ने ट्वीट किया “अगले कुछ दिनों में, फ्रांस भारत को न केवल तत्काल राहत देगा, बल्कि लॉन्ग टर्म कैपेसिटी भी देगा: -इसमें  8 उच्च क्षमता वाले ऑक्सीजन जनरेटर, प्रत्येक में 250 बेड के लिए वार्षिक ऑक्सीजन, 5 दिनों के लिए 2000 रोगियों के लिए लिक्विड ऑक्सीजन, 28 वेंटिलेटर और आईसीयू के लिए उपकरण” होंगे।

भारत में COVID-19 की जानलेवा लहर जारी है। बढ़ते मामलों के कारण देश में अस्पतालों के बेड और मेडिकल-ग्रेड ऑक्सीजन की किल्लत हो गई है। लेनिन ने कहा कि फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन द्वारा शुरू किए गए बड़े पैमाने पर एकजुटता मिशन का उद्देश्य  आपातकाल में मदद करना और भारत की स्वास्थ्य प्रणाली को बेहतर करना है। गौरतलब है कि भारत में हर दिन महामारी के 3 लाख से अधिक मामले सामने आने से पूरा हेल्थकेयर सिस्टम बिगड़ गया है।

बीते दिनों फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कहा था कि फ्रांस कोरोना के खिलाफ अपनी लड़ाई में भारत को अपना समर्थन देने के लिए तैयार है। साथ ही कहा था कि कोरोना के बढ़ते मामलों से जूझ रहे भारत को फ्रांस आने वाले दिनों में मेडिकल ऑक्सीजन क्षमता के साथ उसकी मदद करने की योजना पर काम कर रहा है।

भारत की मदद को आगे आ रहे कई देश

कोरोना इस लड़ाई में फ्रांस के अलावा, यूनाइटेड किंगडम, अमेरिका और जर्मनी सहित कई अन्य देशों ने भी भारत की मदद करने की घोषणा की है। वहीं कुछ देशों से तो मदद का सामान भारत के हवाईअड्डों पर उतरने भी लगा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.