कोरोना वायरस के कारण खतरे में CM उद्धव ठाकरे की कुर्सी, पूरे मंत्रिमंडल का हो सकता है इस्तीफा

COVID-19 भारत

कोरोना वायरस के कारण खतरे में CM उद्धव ठाकरे की कुर्सी, पूरे मंत्रिमंडल का हो सकता है इस्तीफा: Coronavirus: देश में का प्रकोप कम होने का नाम नहीं ले रहा है. इस बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की कुर्सी खतरे में पड़ती दिखाई दे रही है. महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे एक बड़े संकट की ओर जाते दिखाई दे रहे हैं. हालांकि उनकी कुर्सी पर खतरा किसी राजनीतिक दांव पेच की वजह से नहीं बल्कि कोरोना वायरस की वजह से है.

दरअसल, नियमानुसार राज्य के मुख्यमंत्री सहित मंत्रिमंडल के सभी सदस्यों को दोनों सदनों में से किसी एक की सदस्यता लेना जरूरी है. यदि कोई सदस्य दोनों सदनों में से किसी एक की सदस्यता के बगैर मंत्रिमंडल में शामिल होता है तो उसे 6 महीने के भीतर सदस्यता लेनी होती है. फिर चाहे वह मुख्यमंत्री ही क्यों न हो.

28 नवंबर 2019 को एक बड़े ही नाटकीय घटनाक्रम में उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. इस तरह उस तारीख से लेकर 28 मई तक मुख्यमंत्री के रूप में उद्धव ठाकरे के 6 महीने पूरे हो जाएंगे. इससे पहले उद्धव ठाकरे को विधानसभा या विधानपरिषद में से किसी एक सदन की सदस्यता लेनी होगी.

लेकिन जिस तरह आज अपना प्रकोप फैलाया हुआ है. ऐसे में लगता है कि 28 मई तक उद्धव ठाकरे का ऐसा करना थोड़ा मुश्किल है. यदि उद्धव ठाकरे ऐसा कर पाने में नाकाम रहते हैं तो उन्हें इस्तीफा देना ही होगा. यदि मुख्यमंत्री इस्तीफा देते हैं तो इसका मतलब पूरी कैबिनेट का इस्तीफा माना जाता है.

राज्य की विधानपरिषद में 24 अप्रैल को 9 सीटें खाली हो रही हैं. इन्हीं में से किसी एक से उद्धव ठाकरे को चुनकर आना था. हालांकि कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए देशभर में लॉकडाउन की स्थिति है. इस वजह से चुनाव आयोग ने फिलहाल इस चुनाव को टाल दिया है. इस तरह उद्धव ठाकरे की कुर्सी खतरे में पड़ती दिखाई दे रही है.

इस्तीफा देकर ले सकते हैं फिर से शपथ

एक रास्ता यह भी है कि उद्धव ठाकरे इस्तीफा देकर दोबारा शपथ लें. इससे फिर उन्हें 6 माह का रास्ता मिल जाएगा. हालांकि इसमें एक पेंच यह भी है कि उनके साथ ही समूचे मंत्रिमंडल को भी इस्तीफा देना पड़ेगा और दोबारा मंत्री पद की शपथ लेनी पड़ेगी. लेकिन संविधान में इस तरह की परिस्थिति का कोई जिक्र नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.