कोरोना को लेकर केंद्र को वैज्ञानिकों ने दे दी थी चेतावनी, फिर भी नहीं हुआ एक्शन

COVID-19 न्यूज़

भारतीय वैज्ञानिकों के एक पैनल ने मार्च की शुरुआत में ही खतरनाक, नए और घातक कोरोना वायरस वैरिएंट की चेतावनी केंद्र सरकार को दी थी लेकिन इस पर ध्यान नहीं दिया गया. ब्रिटिश मीडिया संस्थान द गार्जियन ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स के हवाले से यह रिपोर्ट दी है. रिपोर्ट के मुताबिक चार भारतीय वैज्ञानिकों ने भारत सरकार को कहा था कि बड़े स्तर पर प्रतिबंध लगाने की जरूरत है ताकि कोरोना वायरस के नए वैरिएंट के फैलाव को रोका जा सके.

रॉयटर्स ने कल इस पर रिपोर्ट दी कि वैज्ञानिकों की चेतावनी के बावजूद लाखों लोग धार्मिक त्योहारों, खेल आयोजनों और राजनीतिक रैलियों में बिना मास्क के शामिल हुए. इसके अलावा कृषि कानून के खिलाफ हजारों किसानों का विरोध प्रदर्शन भी जारी रहा.

दुनिया के दूसरे सबसे ज्यादा आबादी वाले देश में इस साल कोरोना का संक्रमण पिछले साल की तुलना में ज्यादा तेजी से फैला. देश में कोरोना की यह बुरी स्थिति ब्रिटेन के वैरिएंट और भारत में इसके बाद बने 2 नए म्यूटेंट वैरिएंट्स की वजह से बनी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.