कोरोना का कहर : बेटी की डोली उठने से पहले कोरोना ने उठाई पिता की अर्थी, 26 अप्रैल को थी शादी

न्यूज़

आजमगढ़ के मातबरगंज मुहल्ला निवासी एक व्यक्ति बैंक में मैनेजर के पद पर तैनात थे। कोरोना संक्रमित होने के चलते उन्हें मेडिकल कॉलेज चक्रपानपुर में भर्ती कराया गया, जहां उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। 26 अप्रैल को उनकी बेटी की शादी थी। 


कोरोना का संक्रमण लोगों की खुशियों को ग्रहण लगा रहा है। लोगों की खुशियां गम में बदल रही हैं। कुछ ऐसा ही देखने को मिल रहा है नगर के मातबरगंज मुहल्ले में। बैंक में मैनेजर की बेटी की शादी 26 अप्रैल को तय थी। शादी की तैयारियों में पूरा परिवार मशगूल था। पूरा परिवार शादी में जरूरत पड़ने वाले सामानों की खरीदारी करने में जुटा हुआ था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.