‘ओमीक्रोन’ स्वरूप ‘डेल्टा’ से कम घातक है, पर तेजी से फैलता है, Omicron को लेकर डॉक्टर ने दी चेतावनी

Coronavirus नई दिल्ली न्यूज़ भारत

गाज़ियाबाद के कौशांबी में स्थित यशोदा सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के प्रबंध निदेशक डॉ पीएन अरोड़ा ने रविवार को कहा कि कोरोना वायरस का ‘ओमीक्रोन’ स्वरूप ‘डेल्टा’ स्वरूप से कम घातक है, पर यह फैलता बहुत से तेज़ी है, लिहाज़ा सजग रहने की जरूरत है।

महाराष्ट्र में ओमीक्रोन संक्रमण के सबसे अधिक 460 मामले सामने आए हैं और इसके बाद दिल्ली में 351, गुजरात में 136, तमिलनाडु में 117 और केरल में 109 मामले सामने आए हैं। भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के 27,553 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमण के मामले बढ़कर 3,48,89,132 हो गए हैं।

अस्पताल ने एक बयान में बताया है कि डॉ अरोड़ा कोविड-19 से संक्रमित हो गए हैं और उन्हें अस्पताल के पृथक-वार्ड में भर्ती किया गया है जहां डॉक्टरों की एक टीम उनकी निगरानी कर रही है और उनकी हालत स्थिर है।

बयान में डॉ अरोड़ा के हवाले से कहा गया है कि महामारी की नई लहर में सर्दी, खांसी और बुखार के लक्षण ज्यादा देखे जा रहे हैं। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि ये लक्षण होने पर लोग अपनी कोविड-19 की जांच जरूर करा लें जिससे संक्रमण के प्रसार को रोका जा सके।

विशेषज्ञों का कहना है कि ओमीक्रोन को प्राकृतिक टीका समझने की धारणा ”खतरनाक विचार” है, जिसे ऐसे गैरजिम्मेदार लोग फैला रहे हैं, जो कोविड-19 के बाद होने वाली स्वास्थ्य संबंधी दीर्घकालीन परेशानियों पर गौर नहीं करते।

कोरोना वायरस के अन्य स्वरूपों की तुलना में अधिक संक्रामक समझे जाने वाले ओमीक्रोन स्वरूप से संक्रमण के अपेक्षाकृत कम गंभीर मामले सामने आ रहे हैं, इससे संक्रमित लोगों को अस्पताल में भर्ती कराने की आवश्यकता कम पड़ती है और इससे लोगों की मौत की संख्या भी अपेक्षाकृत कम है। इन्हीं वजहों से इस धारणा को जन्म मिला है कि यह स्वरूप एक प्राकृतिक टीके की तरह काम कर सकता है।

ओडिशा में ओमीक्रोन के कुल मामलों की संख्या 37 हुई

ओडिशा में रविवार को ओमीक्रोन के 23 नए मामले सामने आए, जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 37 हो गई। स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इनमें से 13 फिनलैंड, ओमान, सऊदी अरब, दुबई और सीरिया से लौटे हैं, जबकि 10 मामले स्थानीय संपर्क के हैं।

बृहस्पतिवार को यहां ओमीक्रोन के पांच मामले सामने आए थे । राज्य में कोरोना वायरस के नए स्वरूप का सबसे पहला मामला 21 दिसंबर को सामने आया था। ओडिशा में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 424 नए मामले सामने आने के बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 10,55,556 हो गई। मृतकों की संख्या 8,463 है।

highlights उपचाराधीन मामले बढ़कर 1,22,801 हो गए हैं। संक्रमण के कुल मामलों का 0.35 प्रतिशत है। मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 98.27 प्रतिशत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.