आरोग्य सेतु ऐप किसने बनाया?, पहले सरकार ने नही बताया, लेकिन नोटिस के बाद दिया जानकारी

न्यूज़

आरोग्य सेतु ऐप पहले भी विवादों में रहा है. अब एक फिर से इस ऐप को लेकर विवाद है. सवाल ये है कि आरोग्य सेतु ऐप को बनाया किसने? रिपोर्ट्स आई कि मिनिस्ट्री ने ये RTI दाखिल होने के बावजूद ये जानकारी देने से इनकार किया कि आरोग्य सेतु ऐप को बनाया किसने है.

CIC ने शो कॉज नोटिस जारी किया और इसके बाद सरकार की तरफ़ एक स्टेटमेंट जारी कर दिया गया है. सरकार ने कहा है कि इस ऐप सरकार ने प्राइवेट सेक्टर के साथ मिल कर तैयार किया है. नेशनल इनफॉर्मेटिक्स सेंटर यानी NIC, मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स के तहत आती है. RTI से ये खुलासा हुआ की सरकार की इस एजेंसी के पास ये जानकारी नहीं है कि आरोग्य सेतु ऐप किसने बनाया.

नेशनल इनफॉर्मेटिक्स सेंटर ने इस RTI के रिप्लाई में कहा था कि उसके पास जानकारी नहीं है. इनफॉर्मेटिक्स सेंटर सरकारी एजेंसी है जो सरकार की वेबसाइट और ऐप्स बनाती है. आरोग्य सेतू ऐप के डेवेलपर के तौर पर NIC का ही नाम है. RTI के रिप्लाई के बाद CIC ने नेशनल इनफॉर्मेटिक्स सेंटर यानी NIC को शो कॉज नोटिस भी दिया.

सेंट्रल इन्फ़ॉर्मेशन कमीशन ने  RTI दाखिल होने के बाद NIC से ये भी क्लियर करने को कहा कि अगर आरोग्य सेतु के डेवेलपर के तौर पर NIC है तो उनके पासे ये जानकारी क्यों नहीं है कि इस ऐप को किसने बनाया है. शो कॉज नोटिस के बााद अब आरोग्य सेतू ऐप को लेकर सरकार का जवाब आ चुका है.

सरकार की तरफ़ से जारी किए गए स्टेटमेंट में कहा गया है, आरोग्य सेतु ऐप को 21 दिन के अंदर रिकॉर्ड टाइम में तैयार किया गया था, ताकि लॉक्डाउन के रेस्ट्रिक्शन में इससे कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग का काम लिया जा सके. इस ऐप को इंडस्ट्री के बेस्ट माइंड, एकेडमिया और सरकार ने मिल कर बनाया है. सरकार की तरफ़ से जारी किए गए स्टेटेमेंट में ये भी कहा गया है कि  भारत में कोरोना महामारी में आरोग्य सेतु के रोल को लेकर किसी मन में कोई संदेह नहीं होना चाहिए. सरकार द्वारा जारी किए गए इस स्टेटमेंट में कहा गया है कि 26 मई 2020 को आरोग्य सेतु ऐप को सोर्स कोड पब्लिक किया गया है. आरोग्य सेतु ट्विटर हैंडल से भी इसे ट्वीट किया गया है. 

Leave a Reply

Your email address will not be published.